26 जुलाई विजय दिवस

Spread the love
Follow us

26 जुलाई विजय दिवस हर भारतीय को गौरव से भर देने का दिन है विजय दिवस आज ही के दिन कारगिल युद्धा में भारत ने पाकिस्तान से विजय प्राप्त की थी कारगिल युद्ध लगभग 60 दिनों तक चला और 26 जुलाई को उसका अंत हुआ। इसमें भारत की विजय हुई। इस दिन कारगिल युद्ध में शहीद हुए जवानों के सम्मान हेतु मनाया जाता है  |

 

1971 के भारत-पाक युद्ध के बाद भी कई सैन्य संघर्ष होता रहा। दोनों देशों द्वारा परमाणु परीक्षण के कारण तनाव और बढ़ गया था। स्थिति को शांत करने के लिए दोनों देशों ने फरवरी 1999 में लाहौर में घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किए। जिसमें कश्मीर मुद्दे को द्विपक्षीय वार्ता द्वारा शांतिपूर्ण ढंग से हल करने का वादा किया गया था। लेकिन पाकिस्तान ने अपने सैनिकों और अर्ध-सैनिक बलों को छिपाकर नियंत्रण रेखा के पार भेजने लगा और इस घुसपैठ का नाम “ऑपरेशन बद्र” रखा था। इसका मुख्य उद्देश्य कश्मीर और लद्दाख के बीच की कड़ी को तोड़ना और भारतीय सेना को सियाचिन ग्लेशियर से हटाना था। पाकिस्तान यह भी मानता है कि इस क्षेत्र में किसी भी प्रकार के तनाव से कश्मीर मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने में मदद मिलेगी।

kargil-vijay-diwas

प्रारम्भ में इसे घुसपैठ मान लिया था और दावा किया गया कि इन्हें कुछ ही दिनों में बाहर कर दिया जाएगा। लेकिन नियंत्रण रेखा में खोज के बाद और इन घुसपैठियों के नियोजित रणनीति में अंतर का पता चलने के बाद भारतीय सेना को अहसास हो गया कि हमले की योजना बहुत बड़े पैमाने पर किया गया है। इसके बाद भारत सरकार ने ऑपरेशन विजय नाम से 2,00,000 सैनिकों को भेजा। यह युद्ध आधिकारिक रूप से 26 जुलाई 1999 को समाप्त हुआ। इस युद्ध के दौरान 527 सैनिकों ने अपने जीवन का बलिदान दिया।

kargil

ये वे सैनिक है जो कभी लौट कर नहीं आए इनकी सहादत को याद करते हुए इनके बलिदान की स्मृति अपने युवाओ में जलाए रखने के हर वर्ष आज के दिन को विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है |

कारगिल की चोटी पर पाकिस्तानी सेना को परस्त कर तिरंगा लहराने वाले हमारे वीर जवानों को आज पूरा देश याद कर रहा है। 1999 में दुश्मन देश को धूल जटाकर अपने प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों की याद में पूरा देश कारगिल विजय दिवस माना रहा है।द्रास वॉर मेमोरियल में लोगों ने 1999 के कारिगल युद्ध में शहीद जवानों को श्रृद्धांजलि अर्पित की। आज उनके साहस व बलिदान की गाथा को याद किया जा रहा है।

शहीदों को श्रद्धाजंलि

पीएम मोदी ने कारगिल विजय दिवस के अवसर पर शहीदों को याद करते हुए ट्वीट कर लिखा, ‘कारगिल विजय दिवस पर राष्ट्र उन लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है, जिन्होंने ऑपरेशन विजय के दौरान देश की सेवा की। हमारे बहादुर सैनिकों ने यह सुनिश्चित किया कि भारत सुरक्षित रहे और शांति के माहौल को खराब करने की कोशिश करने वालों को उचित उत्तर दिया।’

amar_jyoti

ये दिवस है उन वीरो के बलिदान का जिन्होंने भारत माँ के लिए हँसते हँसते प्राण दे दिए | ये दिवस है युवाओ में फिर वही जोश जगाने का जिस जोश के साथ हमारे देश के सैनिक हमारी रक्षा के लिए हँसते हँसते कुर्बान हो जाते है | साथ ही एक सवाल दिल में छोड़ जाता है की क्या सिर्फ ये एक दिन है ? जब हमे अपने सैनिको के लिए सम्मान और कृतज्ञता प्रकट करनी चाहिए | क्या इनके बलिदान के बदले में साल में एक दिन श्रद्धांजलि देकर कृतज्ञता प्रकट की जा सकती है ? जो जवान हमारे लिए अपने परिवार से दूर सरहद में माथे पे कफ़न बांध के खड़ा है उनके सर्जिकल स्ट्राइक पे हम सवाल उठाते है, उनकी सहादत पे बस एक दिन आंसू बहाते है, उनपर पत्थर बरसाने वाले को मासूम बता कर छोड़ देते है | क्या हमारे जवान जो ठण्ड गर्मी बारिश की परवाह किए बगैर सरहद पे खड़े है देश को हर बुरे वक़्त से निकालने में सबसे आगे खड़े है यही सम्मान के हक़दार है ? हम क्या कर रहे है उनके लिए ? या देश क्या दे रहा उन जवानो को ?

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *