मित्र सच्चा या झूठा

हमारी जिंदगी में मित्रो का बहुत खास स्थान है | हम अपनी जिंदगी की हर अच्छी बुरी बातो उनसे शेयर करते है | हमारे घरवालों के बाद वो ही होते है, जिनपे हम आँख बंद करके भरोसा कर सकते है | दुनिआ में दोस्ती के रिश्ते को कई जगह खून के रिश्तो से बड़ा माना गया है ,और कई बार इस रिश्ते ने इसे सिद्ध भी किआ है| पर उसी तरह कुछ ऐसे लोग भी है जो दोस्ती का मतलब अपना मतलब निकालना समझते है | जब कोई जरुरत हो तब ही आपके पास आते ,और जब आपको उनकी जरुरत हो तो पीछे हटने से पहले एक अब्र भी नहीं सोचते | तो ये पता लगाना बहुत मुश्किल है की कौन आपका सच्चा मित्र है, और कौन झूठा ! यहाँ हम इन्ही बातो पे गौर करने वाले है की सच और झूठ में फर्क कैसे किआ जाए-

FRI

  • मदद के लिए हमेशा इंकार– ये लोग सिर्फ और सिर्फ दुसरो का फायदा उठाना जानते है | जब भी आपको उनकी मदद की जरुरत पड़े हमेशा इंकार ही मिलेगा | इस तरह के लोगो से दूर रहना ही अच्छा है अगर दोस्त ऐसे हो तो उनका न होना ज्यादा बेहतर है |
  • आपकी कमजोरियों का मजाक बनाना– सच्चे दोस्त वो होते है ,जो आपकी बातो को संघे आपकी कमजोरियों को आपकी ताक़त बनाने में मदद करे| ना की वो जो आपके साथ रह के आपकी कमजोरियों का पता लगाए ,और फिर किसी और के साथ मिलके आपका मजाक उड़ाए | एक सच्चा दोस्त कभी किसी दूसरे की नजर में हीन नहीं बनने देता | अगर कोई ऐसा कर रहा है तो वो आपका दोस्त नहीं है, ऐसे दोस्तों को साथ रखने से ज्यादा बेहतर है इंसान दुश्मन पाल ले |

FRI2.JPG

  • आपकी गोपनीय बाते सबको बताना-सच्चा दोस्त वो होता है ,जिसके साथ आप आंख बंद करके अपनी सारी बाते शेयर कर सके | जो आपकी बातो को आप दोनों तक ही सिमित रखे बल्कि के झूठा मित्र आपकी बातो को सुनकर पीठ पीछे आपकी बाते दुसरो को बताता है और आपका मजाक उडाता है |

FRI1

  • आपकी परेशानियों का मजाक उड़ाना-एक झूठा व्यक्ति कभी आपकी परेशानियों को नहीं समझता, बल्कि उसका मजाक उडाता है ,की तुम्हे हि इतनी परेशनिया क्यों है ? वो ाचे से जानता है कौनसी बात आपको सबसे ज्यादा चुभेगी | व्ही बात बार बार करके आपकी परेशनिया बढ़ाता है | बल्कि एक सच्चा मित्र आपकी परेशनियो को समझ के हमेशा आपकी ताक़त बनता है |वो कभी ऐसी सिचुएशन नहीं आने देता, जिससे आप असहज हो |अगर आपकी जिंदगी में भी इस तरह के लोग है तो बेहतर है उनसे दुरी बना ले |

माना दुनिआ का हर इंसान परफेक्ट नहीं हो सकता | आपके दोस्त भी नहीं होंगे, शायद कई बार वो मजाक में आपको हर्ट भी कर दे, या शायद कई बार किसी मजबूरी में फस के आपकी मदद न कर पाए |इस तरह उन्हें दोष देना सही नहीं| पर अगर आपका दोस्त ये बात जानता है, की वो कौनसी चीजे है जो आपको तकलीफ देती है ,या वो ये जानता है की आप क्या नहीं सुन सकते | फिर भी आपको व्ही बाते सुना के टॉर्चर करे तो अपनी दोस्ती आगे बढ़ाने से पहले आपको एक बार विचार जरूर करना चाहिए |

planout-friendship-day-gurgaon

Leave a Reply