बराक ओबामा

बराक ओबामा एक ऐसी शख्सियत है, जिन्होंने अपने हौसले से नामुमकिन को मुमकिन कर दिखाया | ये संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति थे | संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के ४४ वे, तथा प्रथम अफ्रीकन के रूप में २०१२ में इन्होने राष्ट्रपति पद की शपथ ली, तथा दुनिया आज उन्हें सबसे सफल राष्ट्रपति के रूप में याद करती है | अपनी काबिलियत, मेहनत और लगन से उन्होंने दुनिया को दिखा दिया की एक साधारण व्यक्ति भी अगर चाहे तो दुनिया की सबसे ताक़तवर कुर्सी पर बैठ सकता है |

  • प्रारंभिक जीवन- बराक ओबामा का पूरा नाम बराक हुसैन ओबामा है | इनका जन्म ४ अगस्त १९६१ में होनोलुलु में हुआ स्कूली शिक्षा उन्होंने हॉवर्ड लॉ स्कूल से पूरी की और फिर पनाहोउ अकादमी से हॉनर्स के साथ अपना ग्रेजुएशन पूरा किया | जहॉ उन्हें अश्वेत होने के कारन बहुत सी तकलीफो का सामना करना पड़ा १९८३ में उन्होंने कोलम्बिआ यूनिवर्सिटी न्यूयोर्क सिटी से पोलिटिकल साइंस में स्नातक किया,और १९८५ तक बिसनेस सेक्टर में काम किया |

इस दौरान ओबामा ट्रिनिटी यूनाइटेड चर्च ऑफ़ क्राइस्ट से जुड़ गए , और फिर अपने पिता के स्थान केन्या गए, जहॉ अपने पिता और दादा की कब्र देखकर भावुक हो गए | जहॉ उन्हें अपने भीतर जिंदगी की लड़ाई का एहसास हुआ की, किस तरह वो अंदर ही अंदर काले गोरे की लड़ाई लड़ रहे है और खुद को खो रहे है|

  • नई शुरुवात- भावनात्मक लड़ाई ने ओबामा को और मजबूत बना दिया, और नइ शुरुवात के साथ वे केन्या से वापस लौटे और १९८८ में हॉवर्ड लॉ स्कूल में दाखिल हुए | इसके बाद ओबामा ने शिकागो लॉ फर्म जॉइन किया, जहा उनकी मुलाकात मिशेल रॉबिंसन से हुई, जो पेशे से वकील थी उन्हें ओबामा का ऐडवाइसरी नियुक्त किया गया १९९२ में उन्होंने यूनीवर्सिटी ऑफ़ शिकागो में पार्ट टाइम संवैधानिक कानून पढाया, तथा बिल क्लिंटन के राष्ट्रपति पद अभियान में मतदाता पंजीकरण में मदद की |

  • परिवार- ३ अक्टूबर १९९२ में ओबामा मिशेल ने शादी की | इसके बाद १९९८ में उन्होंने अपनी पहली संतान मालिआ को जन्म दिया और २००१ में इनके बेटे शाशा का जन्म हुआ |

  • राजनितिक इतिहास– १९९६ में स्वतन्त्र रूप से लड़ते हुए ओबामा ने इलेक्शन जीता, जिसके बाद उन्होंने गरीबो के हित में बहुत से कार्य किए | ९/ ११ हमले के बाद ओबामा खुले तौर पे सामने आए इनका मानना था ये सब राजनैतिक चालो के अंदर आ रहा है | इस समय वो जॉर्ज बुश के सामने खड़े थे | २००३ में ओबामा के प्रोस्टेट के बावजूद इराक युद्ध हुआ इसके साथ ही उन्होंने २००४ का चुनाव ५२% मतों से जीता इसी वर्ष आम चुनाव में उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को ७०% मतों से शिकस्त दी जो अबतक उनकी सबसे बड़ी जीत थी |

  • राष्ट्रपति बनने का सफर– फरवरी २००७ में ओबामा ने डेमोक्रेटिक प्रेसीडेंट के लिए नामांकन भरा ४ नवंबर २००८ में उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को ५२. ९% मतों से हराकर ऐतिहासिक जीत दर्ज की, क्योंकि ओबामा पहले अश्वेत अर्थात अफ्रीकन राष्ट्रपति बने तथा ४४वे राष्ट्रपति के रूप में चुने गए | जिस वक़्त ओबामा ने कार्यभार संभाला विश्व आर्थिक संकट से गुजर रहा था ,सबसे पहले ओबामा ने वित्तीय सुधार, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार पर काम किया | अपना कार्य सफलता पूर्वक करते हुए उन्होंने २०१२ का चुनाव भी जीता |

 

आज ओबामा देश के सबसे ताक़तवर इंसान के रूप में जाने जाते है जिसने काले गोरे के बीच के भेदभाव को तमाचा मार के राष्ट्रपति का पद हासिल किया इनके राष्ट्रपति बनने के साथ ही एसीआई देशो ने काफी रहत महसूस की, क्योंकि अब तक उन्हें काले गोर के बीच के भेदभाव की वजह से काफी प्रताड़ित होना पड़ा था | ओबामा के राष्ट्रपति बनते ही अप्रवासियों के लिए अच्छे दिन की शुरुवात हो गई थी |

आज ओबामा एक ऐसा चेहरा है जो नामुमकिन को मुमकिन कर देने की प्रेरणा देता है |

  • ओबामा से जुड़े रोचक तथ्य-
  • ओबामा के राष्ट्रपति बनने के महज ९ महीने बाद ही उन्हें शांति का नोबल पुरस्कार दिया गया |
  • कई लोग ओबामा को मुस्लिम मानते है पर ऐसा नहीं है वे प्रोस्टेंट है जो की ईसाई धर्म की दूसरी साखा है जो रोमन कैथोलिक की घोर विरोधी है |
  • ओबामा ट्विटर पे सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले नेता है|
  • ओबामा हैरी पॉटर के बहुत बड़े फैन है वे इस सिरिज की साडी नावेल पढ़ चुके है|
  • ओबामा इंग्लिश के साथ साथ स्पैनिश और इण्डोनेसिआइ भी आसानी से बोल सकते है|
  • ओबामा का पसंदीदा खेल बॉक्सिंग है उनके पास मुह्हमद अली के ऑटोग्राफ का बॉक्सिंग ग्लव्स भी है |
  • ओबामा तीन लोगो को अपना आदर्श मानते है इसमें अब्राहम लिंकन, महात्मा गाँधी तथा मार्टिन लूथर किंग है|
  • ओबामा की हनुमान जी के प्रति बेहद आस्था है वो अक्सर अपनी जेब में हनुमान जी की छोटी सी मूर्ति रखते है जो उन्हें उनके दूसरे पिता ने दी थी |
  • क्वोट्स ऑफ़ बराक ओबामा-
  • आपने सही रास्ता चुना है और आपमें उस राश्ते में चलने की हिम्मत है तो चलते रहिये आपको मुकाम जरूर हासिल होगा|
  • आर्थिक रूप से बलवान हो जाना मुश्किल का हल नहीं लेकिन ये हिम्मत देता है|
  • अगर हम परिवर्तन के लिए दुसरो को आगे आने की उम्मीद करेंगे तो कभी परिवर्तन नहीं आएगा परिवर्तन के लिए हमे खुदको आगे आना होगा|
  • उत्साह वर्धन क्या है? यह किसी कार्य को शुरू करने से पूर्व लगाई जाने वाली पूंजी है |
  • मुद्दे आसान नहीं होते ,पर वो तब सरल हो जाते है जब आप जैसे श्रोता उसे आसानी से सुन कर समझ लेते है |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *