ड्रोन टैक्सी

हवा में उड़ने वाली टैक्‍सी को हमने कल्‍पनाओं में या फिर हॉलीवुड मूवीज़ में देखा होगा। हवाई मार्ग को और बेहतर तरीके से इस्तेमाल करने के लिए शोधकर्ता कुछ नया करने की कोशिशों में लगे रहे हैं। ड्रोन टैक्सी से लेकर विमान का इस्तेमाल बढ़ाने के लिए नए-नए प्रयोग कर रहे हैं।

dron_taxi

चीन जापान और नेवादा जैसे देशों में ‘ड्रोन टैक्सी’ का परीक्षण किया जा रहा है महाराष्ट्र राज्य सरकार ने मुंबई के लिए एक ड्रोन टैक्सी सेवा की केंद्र सरकार की योजना को भी मंजूरी दे दी है। केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय ने अगस्त में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को अपनी ड्रोन टैक्सी नीति पर एक प्रस्तुति दी है और सरकार से एक रिपोर्ट जमा करने को कहा है।केंद्र सरकार उबर की मदद से एक ड्रोन टैक्सी नीति को एक साथ रख रही है। मुंबई दिल्ली और बेंगलुरु कोलकाता दुनिया के सबसे ज्यादा घिरे शहरों में से कुछ हैं जहां कुछ किलोमीटर की दूरी पर यात्रा एक घंटे से अधिक हो सकती है।

उबर एयर एक परिवहन विकल्प बनाने में मदद करने के लिए जबरदस्त क्षमता प्रदान करता है उबर ने इस साल की शुरुआत में पांच लघुसूची वाले फाइनल देशों में उबर एलिवेट के लॉन्च के दौरान घोषणा की कोलकाता एयर की जो कि पहले अंतरराष्ट्रीय उबेर का घर हो सकता है यह सुविधा कंपनी की फ्लाइंग टैक्सी यूनिट उबेर एलेवेते द्वारा दी जाएगी।

एक बटन दबाकर होगी फ्लाइट टैक्सी बुकिंग–  उबेर एलेवते दुनियाभर में अर्बन एरियल राइडशेयरिंग पर काम कर रहा है। इसके तहत अगले पांच साल में उबर ग्राहक केवल बटन दबाकर ही अपनी फ्लाइट टैक्सी बुक कर पाएंगे। उबर व्हीकल मैन्युफैक्चरर्स रियल एस्टेट डेवलपर्स टेक्नोलॉजी डेवलपर्स आदि को नेटवर्क पार्टर्न्स के तौर पर जुटा रहा है। साथ ही कंपनी ब्रैंड न्यू इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट पर भी काम कर रही है। इसे एक बार चार्ज कर ९६ किलोमीटर तक का सफर तय किया जा सकेगा। इससे यात्रा करना कार ओनरशिप से ज्यादा सस्ता पड़ेगा।

dron

कैसे काम करेगी ड्रोन टैक्सी दुनिया की इस पहली उड़ने वाली टैक्सी को जर्मनी की ड्रोन कंपनी वोलोकॉप्टर विकसित कर रही है। डिजाइन की बात करें तो कंपनी ने इसे टू-सीटर हेलीकॉप्टर केबिन की तर्ज पर तैयार किया है।इस टैक्‍सी की खासियतों की बात करें तो इसमें ड्राइवर के बैठने की जरूरत नहीं हैं। इसे रिमोट कंट्रोल के माध्‍यम से बाहर बैठकर भी ऑपरेट किया जा सकता है। हालांकि आप इससे एक बार में सिर्फ 30 मिनट के लिए ही उड़ान भर सकते हैं। आप हवा में कई सौ फीट की ऊंचाई पर होंगे, लेकिन आप इसमें पूरी तरह से सुरक्षित होंगे। क्‍योंकि इसमें सेफ्टी के लिए व्‍यापक उपाए किए गए हैं। इसमें आपातकालीन परिस्थिति के लिए अतिरिक्‍ट बैटरी और रोटर दिए गए हैं। इसके साथ ही इसमें 2 पैराशूट भी होंगे। साथ ही यह इमारत या किसी वस्‍तु के सामने आने पर पहले ही खतरा भांप लेती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *