एक स्वस्थ रिश्ते को संवारने के लिए आवश्यक तथ्य

बीतते समय के साथ अक्सर देखा जाता है की रिश्ते अपनी चमक खोते जा रहे है, हम में से हर कोई सही बॉन्डिंग की इच्छा रखता है। लेकिन कुछ जोड़ों ने केवल अपनी बॉन्डिंग में स्पार्क को जीवित रखने के लिए दर्द उठाया है। क्या आप जानते हैं कि आपके या आपके साथी की कौन सी हरकतें “नो स्पार्क जोन” बनने का कारन है ??सही समय पर अगर इन बातो पर ध्यान न दिया जाए तो कोई कितना भी खूबसूरत और प्यार भरा रिश्ता क्यों न हो दूरियाँ बीच में जगह बना ही लेती है इसलिए जरुरी है की हर संभव प्रयास किए जाए क्योंकि एक बार दरार पड़ जाने पर वो कभी भरी नहीं जा सकती,आइए हम उन भूलों के बारे में जानते हैं और उन गलतियों को करना बंद कर देते हैं, और हमारे कामों को सही दिशा में बदल देते हैं।

आपस में विश्वास न होना- कोई भी रिश्ता सिर्फ व सिर्फ विश्वास की डोर पर ही जीवित रह सकता है अगर आपस में विश्वास न हो तो वो ज्यादा दिन तक टिक नहीं पाता, प्रायः जोड़ो का एक दूसरे के प्रति पजेसिव होना देखा जाता है और इसमें तब तक कुछ गलत नहीं है जब तक सब सीमा में हो पर हर वक़्त एक दूसरे पर नजर रखना उनके हर कार्य को शक की दृष्टि से देखना या यूँ कहे की किसी की पर्सनल स्पेस को छीनना न सिर्फ अपराध है बल्कि रिश्ते टूटने का अहम कारन भी है ।

विश्वास न होना

एक दूसरे के महत्व की अनदेखी करना- हमेशा अपने रिश्ते को फॉर ग्रांटेड लेना उनके एक्सिस्टेंस की अनदेखी करना किसी भी रिश्ते में दूरियों की सबसे बड़ी वजह है क्योंकि वो आपका पार्टनर है इसलिए जरुरी नहीं की हर समझौते वो ही करे हर कदम पे किए जाने वाले समझौते हमेशा लास्ट ऑप्शन या लीस्ट प्रायोरिटी रखने की आदत आपके साथी के मन में हीन भावना को जन्म देती है और आपकी जिंदगी में अपने लिए स्थान न पाता देख वो उस और चला जाता है जहाँ उसे प्यार सम्मान और महत्व मिले और इसके साथ ही पुराना रिश्ता टूट जाता है और उसकी जगह कोई और ले लेता है 

महत्व की अनदेखी

एक दूसरे को समय न देना -भागदौड़ से भरी इस जिंदगी में किसी के पास किसी के लिए समय नहीं है फिर भी जरुरी है की अपनी व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय अपने अपनों के लिए निकाला जाए यदि आप यह बहाना देने में व्यस्त हैं कि आपके पास एक व्यस्त जीवन है, तो बेहतर है कि आप शादी न करें। एक व्यक्ति के रूप में जो अपने रिश्तो के प्रति अपनी जिम्मेदारी को नहीं उठा सकता बेहतर है की वो किसी भी तरह के कमिटमेंट से दूर रहे मान लीजिये आपका साथी बीमार है या मानसिक या शारीरिक रूप से दुखी है तो आपका पहला कर्तव्य उसके प्रति है अगर इस अवस्था में भी आप व्यस्तता का बहाना बना उसके साथ नहीं है तो यकीन मानिये आप अपना रिश्ता खो चुके है अब अपनी आने वाली किसी भी परेशानी के लिए वो आपसे उम्मीद नहीं रखेगी और उम्मीदों का मर जाना रिश्तो के मर जाने जैसा ही है ।

समय न देना

आपस में बातचीत की कमी होना – दो लोगो के बीच बात होना बहुत जरुरी है अगर बात न हो तो उनकी जगह गलतफहमिया ले लेती है, एक स्वस्थ रिश्ते के लिए बातचीत उतनी ही जरुरी है जितना एक जीवित शरीर के लिए ऑक्सीजन जरुरी है कई बार आपस की लड़ाइयों में लोग बात करना बंद कर देते है जो हर तरह से दो लोगो के बीच दूरियाँ बढ़ाता है इसलिए जरुरी है की आप अपनी नाराजगी से लोगो को अवगत अवश्य करवाए, हाँ पर यदि आपका साथी आपकी नाराजगी का कारन जानते हुए भी जानबूझ कर गलतिया दोहरा रहा है तो ये संकेत है की इस रिश्ते से उसे न कोई लगाव है न रिश्ता बचाने की कोई चाह।

बातचीत की कमी

रिश्तो में बहस को स्थान – ज्यादातर जोड़े बहस करते और एक-दूसरे को न समझ पाने वाले अंत में दिखाई देते हैं। जब जोड़े लड़ते हैं तो वे मूल बातें भूल जाते हैं और गलतफहमी के लिए अपना दायरा बढ़ाते हैं। बस यह साबित करने के लिए कि वे सही हैं और अपनी बात दूसरे को समझाने के लिए चिंतित नहीं हैं। अपनी गलती न मानते हुए हर तरीके से खुद को सही दिखाने की कोशिश में वो अपने अच्छे लम्हो को को बीच में ले आते है ताकि ये दिखा सके की कितना किया है उन्होंने या कितना सहा है पर सच्चाई ये है की यहाँ उनका प्यार एहसान का रूप ले कर उन्हें हमेशा के लिए दूर कर देता है ।

रिश्तो में बहस

आपसी रंजिस को स्थान देना- यदि आप इस मुद्दे को सुलझाने और अपने दिल में असहमति रखने वाले व्यक्ति हैं, तो इससे आपके रिश्ते खराब होंगे। इसे जाने दो, क्षमा करो और आगे बढ़ो। ग्रूड्स को स्पेस देने से आप दोनों के बीच का प्यार खत्म हो जाएगा।

रंजिस को स्थान देना

अपने बीच किसी तीसरे को बोलने का स्थान देना- सबसे बड़ी गलतियों में से एक जो एक दंपति कर सकता है वह तीसरे व्यक्ति को उनके बीच प्रवेश करने की अनुमति देता है। और इसी के साथ दांव पर लगाता है अपना रिश्ता चाहे वो कोई दोस्त हो आपके घरवाले या कोई और किसी को भी आप दोनों के सम्बन्ध में बोलने का कोई अधिकार नहीं है।

किसी तीसरे को बोलने का स्थान देना

एक दूसरे की असमानता का मजाक बनाना -आपको टीवी शो पसंद हो सकते हैं लेकिन आपका साथी खेल या समाचारों का बहुत बड़ा प्रशंसक हो सकता है, जो आपकी सबसे अधिक नफरत वाली चीज है। लेकिन यह आपको उनकी उपस्थिति का अनादर करने या उनका मूल्यांकन करने के लिए एक बढ़त नहीं देता है। क्या होगा अगर उसकी पसंद आपका मेल नहीं खाती है। कोई भी युगल एक दूसरे की सच्ची नकल नहीं था, इसलिए यह बेहतर है कि आप अपने द्वारा साझा किए गए मतभेदों को साझा करने के लिए समानता के लिए एकजुट हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *